August 25, 2016

जगत का रखवाला भगवान-नया आदमी १९५६

आज एक और फ़िल्मी भजन सुनते हैं. इसे हमने चुना है सन १९५६
की फिल्म नया आदमी से. राजेंद्र कृष्ण के मोलों को धुन से संवारा
है एम् एस विश्वनाथन और टी के रामामूर्ति की जोड़ी ने. इस जोड़ी
के काफी चर्चे होते थे दक्षिण भारत में. इस जोड़ी को दक्षिण भारत का
शंकर-जयकिशन कहा जाता था. दोनों ने कई साल तक साथ साथ
काम करने के बाद स्वतंत्र संगीतकारों की तरह काम करना शुरू किया.
रामामूर्ति का  काम तो कम हुआ बाद में मगर विश्वनाथन की फिल्मों
की संख्या में ज़बरदस्त इजाफा हुआ.

फिल्म में ३ गीत मदन मोहन के संगीत वाले हैं. ऐसी कुछ फ़िल्में हैं
हिंदी फिल्म संगीत इतिहास की जिनमें दो से अधिक संगीतकारों की
धुनें हैं. ऐसा अक्सर फिल्म के निर्देशक निर्माता बदलने की सूरत में
या किसी संगीतकार के किसी वजह से फिल्म छोड़ने की स्तिथि में हुआ
करता था.

फिल्म नया आदमी में एन टी रामाराव और अंजलि देवी की जोड़ी है.
दोनों अपने समय के प्रसिद्ध नायक-नायिका हैं.



जो भी चाहे मांग ले भगवान के भण्डार से
कोई भी जाए ना खली हाथ इस दरबार से
इस दरबार से

जगत का रखवाला भगवान
जगत का रखवाला भगवान
अरे इंसान उसे पहचान
अरे इंसान उसे पहचान
जगत का रखवाला भगवान

सबके सर पर हाथ उसी का उसके हाथ करोड़
हरी नाम से मूरख प्राणी मन की डोरी जोड़
ओ प्राणी मन की डोरी जोड़
भूल के उसको भटक रहा क्यूँ डगर-डगर नादान
जगत का रखवाला भगवान

छोड़ शरण दुनिया की बंदे प्रभु चरणों में आ
छोड़ शरण दुनिया की बंदे प्रभु चरणों में आ
करने वाला करेगा न्याय मन की विपत्ति सुना
हो जायेगी राम नाम से हो जायेगी राम नाम से
हर मुश्किल आसान

जगत का रखवाला भगवान
अरे इंसान उसे पहचान
जगत का रखवाला भगवान
.................................................................
Jagat ka rakhwala bhagwan-Naya aadmi 1956

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP