August 29, 2016

मैं हूँ हसीना खोल दरवाजा-पूनम १९८१

फिल्म पूनम के गाने बहुत चले. उस दौर में जब प्रमुख संगीतकार
अपने पीक पर थे. इस फिल्म से संगीतकार अन्नू मलिक को विशेष
फायदा ना हुआ.

अन्नू मलिक को एक वरदान अवश्य मिला-हसरत जयपुरी द्वारा उनके
लिए गीत लिखे जाना. हसरत ने अन्नू के लिए काफी गीत लिखे हैं.
प्रस्तुत गीत भी हसरत ने लिखा है. गीत अमित कुमार और पूनम
ढिल्लो ने गाया है. अमित कुमार ने गाया है और पूनम ने संवाद
अदायगी की है मगर इस गीत के गायकों में उनका नाम भी शामिल
है. इस तरह से फ़िल्मी हीरो हीरोईनें गायक/गायिका बन जाया करते
हैं.

गीत सुनिए बाकी की बात हम फिर कभी कर लेंगे.



गीत के बोल:

मैं हूँ हसीना खोल दरवाजा दिल का
आ गया दीवाना तेरा
हो मैं हूँ हसीना खोल दरवाजा दिल का
आ गया दीवाना तेरा
कब से खड़ा हूँ तेरे दर पे ओ जानम
ले ले तू नजराना मेरा

हे आँखें मिलायी जिससे तूने सनम
तीर चलाये जिसके दिल पे सनम
हे आँखें मिलायी जिससे तूने सनम
तीर चलाये जिसके दिल पे सनम
वो दीवाना तेरे प्यार में खोया है

हो मैं हूँ हसीना खोल दरवाजा दिल
का आ गया दीवाना तेरा
कब से खड़ा हूँ तेरे दर पे ओ जानम
ले ले तू नजराना मेरा

बात ये क्या है मुझे तडपाती क्यूँ है
चेहरा दिखा के मुझे छुप जाती क्यूँ है
बात ये क्या है मुझे तडपाती क्यूँ है
चेहरा दिखा के मुझे छुप जाती क्यूँ है
जान ना ले ले तेरी शरारत

मैं हूँ हसीना खोल दरवाजा दिल का
आ गया दीवाना तेरा
कब से खड़ा हूँ तेरे दर पे ओ जानम
ले ले तू नजराना मेरा

हाय रे हाय मुझे पागल बनाये
संग हवा के तेरी खुशबू जो आये
हाय रे हाय मुझे पागल बनाये
संग हवा के तेरी खुशबू जो आये
रुत हसीं हम तुम जवान
पास मेरे आ भी जा

मैं हूँ हसीना खोल दरवाजा दिल का
आ गया दीवाना तेरा
कब से खड़ा हूँ तेरे दर पे ओ जानम
ले ले तू नजराना मेरा
.......................................................................................
Main hoon haseena khol darwaja-Poonam 1981

Artists: Raj Babbar, Poonam Dhiilon

2 comments:

Geetsangeet September 8, 2016 at 2:09 PM  

हँसने लायक सामान ना तो गाने में है और ना पोस्ट में,
फिर आपकी नज़रे इनायत किस वस्तु-विशेष पर हुई और
आप आनंदित हुए, बतलायें !

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP