August 21, 2016

सुन मेरे साजना-आंसू १९५३

आज आपको सुनवाते हैं सुन मेरे साजना सीरीज़ के दो गीत.
दो गीत सुनवायेंगे आपको जिसमें से पहले है श्वेत श्याम युग
से. लता-रफ़ी का ये युगल गीत काफी लोकप्रिय है और इसे
आप संगीतकार जोड़ी हुस्नलाल भगतराम के सबसे लोकप्रिय
गीतों में से एक मान लें.

हम सीरीज़, श्रेणी, कैटेगरी वगैरह पे ज्यादा गौर नहीं करते
इसलिए धीरे धीरे गूगल देवता का मोह भी भंग हो चला है.
इसी वजह से आजकल हम अपनी पोस्ट में कभी-कभार
बता दिया करते हैं कौन सा गीत है- पहाड़ पे चलने वाला
हिट है या पहाड से कूदने वाला हिट है. धीमी छींक हिट है
या जोर की छींक हिट है. ‘हिट’ भी काला वाला है या लाल
वाला.

गूगल देवता केवल पोस्ट का टाइटल पकड़ कर उसे और जगह
भी ढूँढा करता है. उसे लगता है कि यह ब्लॉग और लिरिक्स
वाले ब्लॉग और साइटें एक समान हैं. इंसान वेबसाईट बनाते थे
तब तक ठीक था, कुछ उदबिलावी प्रवृत्ति वाले जंतु भी आ गए
हैं अब जो यकायक शोहरत और धन इकठ्ठा कर लेना चाहते हैं.




गीत के बोल:


साजना हो, साजना हो
साँवरी ओ ओ ओ ओ ओ ओ

सुन मेरे साजना रे
सुन मेरे साजना देखो जी मुझको भूल न जाना
सुन मेरे साजना रे ओ

सुन मेरी साँवरी ओ
सुन मेरी साँवरी अपना बना के छोड़ न जाना
सुन मेरी साँवरी ओ ओ ओ

न तुझको मैं भुलाऊँगा, निगाहों में छुपाऊँगा
न तुझको मैं भुलाऊँगा, निगाहों में छुपाऊँगा
मगर इतना करो वादा
मगर इतना करो वादा कि रिश्ता तोड़ न जाना
सुन मेरी साँवरी ओए

सुन मेरी साँवरी ओ
सुन मेरी साँवरी अपना बना के छोड़ न जाना
सुन मेरी साँवरी ओ ओ ओ

ये रिश्ता चार आँखों का मेरे साजन न टूटेगा
ये रिश्ता चार आँखों का मेरे साजन न टूटेगा
जो मुझको आज़माना हो
जो मुझको आज़माना हो तो डोली ले के आ जाना
सुन मेरे साजना रे

सुन मेरे साजना रे
सुन मेरे साजना देखो जी मुझको भूल न जाना
सुन मेरे साजना रे ओ

सुन मेरी साँवरी ओ
सुन मेरी साँवरी अपना बना के छोड़ न जाना
सुन मेरी साँवरी हो ओ ओ ओ

बजे जिस रोज़ शहनाई
बजे जिस रोज़ शहनाई समझ लेना बारात आई
ओ अरमानों की डोली में
ओ अरमानों की डोली में दुल्हनिया बन के आ जाना
सुन मेरी साँवरी ओए

सुन मेरी साँवरी ओ
सुन मेरी साँवरी अपना बना के छोड़ न जाना
सुन मेरी साँवरी हो ओ ओ ओ

अगर किस्मत बदल जाये
अगर किस्मत बदल जाये, जुदाई हमको तड़पाये
क़सम है प्यार की तुझको
क़सम है प्यार की तुझको
क़सम है प्यार की तुझको तू मुझसे रूठ न जाना
सुन मेरे साजना रे

सुन मेरे साजना रे
सुन मेरे साजना देखो जी मुझको भूल न जाना
सुन मेरे साजना रे ओ
..................................................................................................................
Sun mere sajna-Aansoo 1953

Artists: Shekhar, Kamini Kaushal

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP