August 24, 2016

तू मइके मत जइयो-पुकार १९८३

गायक-अभिनेता वाला युग ३० के दशक और ४० के दशक
के पूर्वार्ध तक पूरे शबाब पर था. अधिकांश नायक नायिका
अपने गाने गा लिया करते थे. उस दौर के बाद कुछ ही
ऐसे बचे जैसे सुरैया, किशोर कुमार जिनको आप आल-राउंडर
कह सकते हैं. उनके अलावा शौकिया गाने वाले कलाकार
बचे.

अमिताभ बच्चन ने फिल्मों में गाना मिस्टर नटवरलाल से
शुरू किया. अगर गीतों में शामिल डायलोग की बात करें तो
ये सिलसिला पुराना है.

आज आपको फिल्म पुकार से गुलशन बावरा का लिखा गीत
सुनवा रहे हैं जिसका संगीत पंचम ने तैयार किया है. इसे
परदे पर जीनत अमान और अमिताभ बच्चन पर फिल्माया
गया है. साल के बारह महीने क्या क्या होता है इस गीत में
बतला दिया गया है



गीत के बोल:

तू मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो

तू मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो

जनवरी फ़रवरी
जनवरी फ़रवरी के दो महीने लगती है मुझको सर्दी
जनवरी फ़रवरी के दो महीने लगती है मुझको सर्दी
तू क्या जाने तू क्या जाने
तू क्या जाने सर्दी ने जो
आ हा आ हा आ हा आ हा हालत पतली कर दी
तू मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
मइके मत जइयो

मार्च, अप्रैल में बहार कुछ ऐसे झूम के आये
कैसे?
मार्च, अप्रैल में बहार कुछ ऐसे झूम के आये
देख के तेरा देख के तेरा
देख के तेरा गदरा बदन हाय दिल मेरा ललचाये

मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
मइके मत जइयो

मई और जून का आता है जब रंगों भरा महीना
मई और जून का आता है जब रंगों भरा महीना
देख तेरा
देख तेरा मलमल का कुरता  आ हा आहा ऐ हे ओ हो
अरे छूटे मेरा पसीना
मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो

जुलाई अगस्त में सावन ऐसे रिमझिम रिमझिम बरसे
रिमझिम रिमझिम रिमझिम रिमझिम रिमझिम रिमझिम
रिमझिम रिमझिम रिमझिम रिमझिम रिमझिम रिमझिम
जुलाई अगस्त में सावन ऐसे रिमझिम रिमझिम बरसे

बन्द कमरे में बन्द कमरे में
अरे बन्द कमरे में बैठेंगे हम निकलेंगे न घर से

मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो

सेप्टेम्बर अक्तूबर का मौसम होता है प्यारा
आ सुनो मेरे लम्बू रे सुनो मेरे मितवा
सुनो मेरा साथी रे
सेप्टेम्बर अक्तूबर का मौसम होता है प्यारा
ऐसे में मैं ऐसे में मैं
ऐसे में मैं रहूँ अकेला ये नहीं मुझे गंवारा
मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो

हाय नवम्बर और दिसम्बर का तू पूछ न हाल
हाय नवम्बर और दिसम्बर का तू पूछ न हाल
सच तो ये है
अरे पगली सच तो ये है
हाँ सच तो ये है पगली हम न बिछड़ें पूरा साल

मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
मइके मत जइयो
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो आ हा आ हा
मत जइयो मेरी जान
तू मइके मत जइयो
…………………………………………………………..
Too maike mat jaiyo-Pukar 1983

Artists: Amitabh Bachchan, Zeenat Aman

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP