September 24, 2016

आया था किस काम से-कबीर वचन

आया था किस काम से-कबीर वचन

आपको आज सुनवाते हैं विंटेज गैर फ़िल्मी गीत जो कबीर
के दोहों को ही सुरों में ढाल के उपदेशात्मक गीत बनाया
गया है.

इसके गायक हैं एम कलीम. उनके गाये कुछ गीत यू-ट्यूब
पर उपलब्ध हैं. ज्यादा प्रसिद्धि तो नहीं मिली उनको मगर
संगीत प्रेमी विशेषकर पुराने गैर फ़िल्मी गीत सुनने वाले
रसिक उनके बारे में अवश्य जानते हैं.

मुखड़े का सार ये है कि संसार में प्राणी आता है और फिर
मायाजाल में उलझ जाता है. प्रभु को भूल जाता है जिनके
सुमिरन के अलावा जीवन नैया तारने का कोई सटीक उपाय
नहीं है. जिसने अपने आप को पहचान लिया समझो वो जीव
ईश्वर के सामीप्य पा गया.



गीत के बोल:

आया था किस काम को तू सोया चादर तान रे
सुरत संभाल ए गाफिला अपना आप पहचान रे

....................................................................
Aaya tha kis kaam se-Kabeer dohawali

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP