September 3, 2016

ए री पवन-बेमिसाल १९८२

ऋषिकेश मुखर्जी बेमिसाल जुर्माना नाम की फिल्म बना रहे हैं
ये बात फिल्म गोलमाल के एक दृश्य में बतलाई जाती है. ऐसा
देवेन वर्मा और अमोल पालेकर के बीच वार्तालाप हो रहा है.

गौरतलब  है जुर्माना और बेमिसाल की स्टारकास्ट एक जैसी
है-अमिताभ, राखी और विनोद मेहरा. संगीत भी एक जैसा है.
अतः कंफ्यूज़न हो जाता है.

बेमिसाल की कहानी लीक से हट कर है. फिल्म अगर
आप टुकड़ों टुकड़ों में देखें तो शायद कहानी समझ ना
आये. बहरहाल इस फिल्म को गीतों के लिए ही ज्यादा
जाना जाता है ना कि कहानी के लिए.

फिल्म के बेहतर गीतों में से एक आप सुन लीजिए आज.
लाता मंगेशकर का गाया ये गीत सबसे पहले रेडियो पर
ही सुनने का मौका मिला था.

इस गीत में भी वीडियो से एक अंतरा गायब है. हमने
तीनों अंतरों के बोल यहाँ दिए हैं. हवा, पवन जैसे शब्दों
पर बना ये एक खूबसूरत गीत है आनंद बक्षी का लिखा
हुआ. इसे लता ने गाया है. संगीत पंचम का है.



गीत के बोल:

ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन चलते चलते
ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन चलते चलते
ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन चलते चलते
बावरी सी तू फिरे कौन है तेरा सजन
हो ओ ओ ओ ओ ओ
ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन चलते चलते

बादल से तेरा क्या है कुछ नाता
हो ओ ओ ओ ओ
बादल से तेरा क्या है कुछ नाता
काहे झूमे नाचे गाये
काहे झूमे नाचे गाये आये जब सावन
बावरी सी तू फिरे कौन है तेरा सजन
हो ओ ओ ओ ओ ओ
ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन चलते चलते

मन के द्वारे से चोरी चुपके से
सपनों की तू पायल बाँधे गुज़रे छन नन छन
बावरी सी तू फिरे कौन है तेरा सजन
हो ओ ओ ओ ओ ओ
ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन चलते चलते

एक अकेली तू मेरी सहेली तू
हो ओ ओ ओ ओ
एक अकेली तू मेरी सहेली तू
जिसका कोई साथी नाहीं
जिसका कोई साथी नाहीं उसका क्या जीवन
बावरी सी तू फिरे कौन है तेरा सजन
हो ओ ओ ओ ओ ओ
ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन चलते चलते
ए री पवन ढूँढे किसे तेरा मन
........................................................................
Ae ri pawan-Bemisaal 1982

Artists: Rakhi, Amitabh Bachchan, Vinod Mehra

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP