September 10, 2016

बुरा मत सुनो-आया सावन झूम के १९६९

एक उपदेशात्मक गीत सुनते हैं रफ़ी की आवाज़ में. आनंद बक्षी
के लिखे गीत की धुन बनाई है लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने. रफ़ी का
गाया ये गीत लोकप्रिय है. फिल्म के शीर्षक गीत के बाद शायद
यही सबसे ज्यादा लोकप्रिय है.

गीत की पहली पंक्ति रोचक है जिस पर शायद संत महात्मा ही
अमल कर सकते हैं, आम आदमी के बस का नहीं है ये काम.
फिर भी, कुछ हद तक अच्छे गुणों वाले इंसान ये काम करते हैं
जिससे नकारात्मकता थोड़ी कम होती है.

परदे पर धर्मेन्द्र गीत को गा रहे हैं. आया साबुन झूम के फिल्म
का निर्देशन रघुनाथ झालानी ने किया था.



गीत के बोल:

नज़र वो जो दुश्मन पर भी मेहरबान हो
नज़र वो जो दुश्मन पर भी मेहरबान हो
जुबान वो जो एक प्यार की दास्तान हो

किसी ने कहा है मेरे दोस्तों
किसी ने कहा है मेरे दोस्तों
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
किसी ने कहा है मेरे दोस्तों
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
बुरी है बुराई मेरे दोस्तों
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो

ज़माने में सब जिंदगी यूँ गुजारें
ज़माने में सब जिंदगी यूँ गुजारें
गुलिस्तां में रहती हैं जैसे बहारें
ये कहानी यही है जिंदगानी यही है
ये कहानी यही है जिंदगानी यही है
जियो आप औरों को भी जीने दो
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो

हसीं हैं बहुत ज़ुल्फ़ के भी फ़साने
हसीं हैं बहुत ज़ुल्फ़ के भी फ़साने
मोहब्बत की बातें वफ़ा के टर्राने
ये तराने सुनाओ ये फ़साने सुनाओ
ये तराने सुनाओ ये फ़साने सुनाओ
मगर याद रखो मेरे साथियों
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो

किसी ने कहा है मेरे दोस्तों
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
बुरी है बुराई मेरे दोस्तों
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो

जो मैंने कहा है वो तुम सब कहो
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
बुरा मत सुनो बुरा मत देखो बुरा मत कहो
..................................................................
Bura mat suno-Aaya sawan jhoom ke-1969

Artist: Dharmendra

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP