September 26, 2016

क्यूँ मेरे दिल में दर्द-बावरे नैन १९५०

केदार शर्मा का लिखा एक गीत सुनते हैं फिल्म बावरे नैन से.
केदार शर्मा को राज कपूर का गुरु भी कहा जाता है. राज कपूर
ने निर्देशन की कई बारीकियां केदार शर्मा से सीखीं. कुछ सामान्य
बारीकियां सीखीं तो कुछ स्पेशल वाली जिनसे फिल्म में रोचकता
पैदा की जाती है.

फिल्म बावरे नैन का गीत राज कपूर और गीता बाली पर फिल्माया
गया है. गायिका हैं राजकुमारी. राजकुमारी के गाये कई गीत प्रसिद्ध
हैं जो आज समय के साथ थोड़े गम हो चले हैं. पुराने संगीत प्रेमी
उनके गीत अवस्य ही सुना करते हैं. ५० के दशक में बाकी भारी
आवाज़ वाली गायिकाओं की तरह उनके भी गीत कम होते गए.

प्रस्तुत गीत के संगीतकार हैं रोशन जिनकी ये पहली म्यूजिकल हिट
फिल्म थी. गौरतलब है इसमें लता मंगेशकर का गाया एक भी गीत
नहीं है.

हीरोईन इतनी दुखी है कि कवेलू की छत पर चढ के बैठ गयी है और
बेहद दर्द भरा गीत गा रही है. ऊपर चढ के गाने का एक फायदा ये है
आवाज़ दूर दूर तक जाती है, कोई नहीं सुनना चाहे तो भी सुनाई देती
है. छितरे बादलों को फूटी घटाओं की उपमा दी गयी है गीत में.
कुछ कुछ गुलजारना सा लगता है ये तो !!




गीत के बोल:

क्यूँ मेरे दिल में दर्द बसाया जवाब दो
क्यूँ भोले-भाले दिल को लुभाया जवाब दो
क्यूँ मेरे दिल में दर्द बसाया जवाब दो
क्यूँ भोले-भाले दिल को लुभाया जवाब दो

दिल की कली को खिलने से पहले मसल दिया
पहले मसल दिया
दिल की कली को खिलने से पहले मसल दिया
पहले मसल दिया
काहे हँसा हँसा के रुलाया जवाब दो
क्यूँ मेरे दिल में दर्द बसाया जवाब दो
क्यूँ भोले-भाले दिल को लुभाया जवाब दो


दुनिया में छा रहा है अंधेरा तेरे बग़ैर
अंधेरा तेरे बग़ैर
दुनिया में छा रहा है अंधेरा तेरे बग़ैर
अंधेरा तेरे बग़ैर
क्यूँ मेरे दिल का दीप बुझाया जवाब दो
क्यूँ मेरे दिल में दर्द बसाया जवाब दो
क्यूँ भोले-भाले दिल को लुभाया जवाब दो

फूटी घटाओं वो मेरी खुशियाँ कहाँ गयी
मेरी खुशियाँ कहाँ गयी
फूटी घटाओं वो मेरी खुशियाँ कहाँ गयी
मेरी खुशियाँ कहाँ गयी
क्यूँ मुझको प्यार रास न आया जवाब दो
क्यूँ मेरे दिल में दर्द बसाया जवाब दो
क्यूँ भोले-भाले दिल को लुभाया जवाब दो
..........................................................................
Kyon mere dil mein-Bawre Nain 1950

Artist: Geeta Bali

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP