September 25, 2016

साजन साजन तेरी दुल्हन-आरजू १९९९

सन १९९९ की फिल्म आरजू में अक्षय कुमार, सैफ अली खान और
माधुरी दीक्षित प्रमुख कलाकार हैं. अक्षय की माधुरी के संग फिल्म
करने की आरजू इस फिल्म के ज़रिये पूरी हो गयी होगी. माधुरी की
बतौर प्रमुख हीरोईन अंतिम फिल्मों में से एक आरजू बॉक्स ऑफिस
पर कुछ कमाल नहीं दिखा पाई.

माधुरी २-३ साल और लगातार काम करतीं या उन्हें रोल ऑफर किये
जाते तो शायद इंडस्ट्री के सभी नए पुराने नायकों के साथ काम
करने का रिकॉर्ड बना लेतीं. १९९७ की फिल्म दिल तो पागल है
उनकी अंतिम बड़ी हिट फिल्म कही जा सकती है.

प्रस्तुत गीत चर्चित गीत है फिल्म का जिसे लिखा है आनंद बक्षी ने,
धुन बनाई है अन्नू मलिक ने और गाया अलका याग्निक ने.



गीत के बोल:

चांदनी रात तारों की बारात है
दिल की महफ़िल सजाने में क्या देर है
क्या देर है
धडकनें दिल की शहनाईयां बन गईं
अबतो सजन के आने में क्या देर है
क्या देर है

मेरी जिंदगी मेरा प्यार याद आ रहा है
आने वाला है जो वो याद आ रहा है
साजन साजन तेरी दुल्हन तुझको पुकारे आ जा
आ कर मेरे हाथों में मेहँदी तू ही रचा जा
साजन साजन तेरी दुल्हन तुझको पुकारे आ जा
आ कर मेरे हाथों में मेहँदी तू ही रचा जा
आ जा आ जा आ जा आ जा
ओ मेरी जिंदगी मेरा प्यार याद आ रहा है
आने वाला है जो वो याद आ रहा है
साजन साजन तेरी दुल्हन तुझको पुकारे आ जा
आ कर मेरे हाथों में मेहँदी तू ही रचा जा
आ जा आ जा आ जा आ जा

पायल काजल कंगन दामन सारे तुझे बुलाएँ
आ जा साजन  आ जा तेरे अपने तुझे बुलाएँ
आ जा आ जा साजन आ जा
मेरे महबूब मेरे हमसफ़र
तुझको क्या पता है तुझे क्या खबर
एहसान तेरे कितने हैं मुझ पर
रब पे यकीन है जितना उतना है तुझ पर
आ जा आ जा आ जा आ जा

मेरा महबूब मेरा सनम आ रहा है
हम तो मर ही चुके थे फिर जनम आ रहा है
साजन साजन तेरी दुल्हन तुझको पुकारे आ जा
आ कर मेरे हाथों में मेहँदी तू रचा जा
आ जा आ जा आ जा आ जा

चुनरी मेरी रंगीन हुई है तेरे रंग से साजन
आ कर रंग दे मेरा अंग अंग अपने रंग से साजन
आ जा आ जा साजन आ जा
तुमसे वफाएं बहुत मैं करूंगी
कसम तेरी अब ये दिल किसी को ना दूँगी
आ तुझे बता दूं मेरे दिल में क्या है
दिल लेने वाले तुझे जान अपनी दूँगी
आ जा आ जा आ जा आ जा
धडकनें बढ़ रही हैं वो करीब आ रहा है
खुशनसीबी बन के मेरा वो नसीब आ रहा है
साजन साजन तेरी दुल्हन तुझको पुकारे आ जा
आ कर मेरे हाथों में मेहँदी तू रचा जा
आ जा आ जा आ जा आ जा

चांदनी रात तारों की बारात है
दिल की महफ़िल सजने में क्या देर है
क्या देर है
धडकनें दिल की शहनाइयां बन गईं
अब तो साजन के आने में क्या देर है
क्या देर है
…………………………………………………………
Sajan sajan teri dulhan-Arzoo 1999

Artist: Madhuri Dixit, Saif Ali Khan

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP