October 1, 2016

आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा-देवी भजन

आज से शारदीय नवरात्रि पर्व २०१६ का शुभारंभ हुआ है. अबकी
बार नवरात्रि १० दिन की है अर्थात एक दिन अतिरिक्त दिन मिलेगा
भक्तों को. शक्ति की आवश्यकता ब्रम्हांड के सभी जीवों को होती
है, चाहे देवता हों, मनुष्य हों या अन्य वर्गों में आने वाले जीव.
सभी अपनी चेतना, सामर्थ्य के अनुसार याचना करते हैं.

आज आश्विन मास शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि है, वार शनिवार.
नवरात्रि के प्रथम दिवस पर नवदुर्गा के प्रथम रूप शैलपुत्री की
पूजा की जाती है. इनके पूजन से भक्तों को धन धान्य से पूर्णता
का आशीर्वाद मिलता है. पूजन में भाव सर्वोपरि है, चाहे जिस भी
उपाय से पूजन करें, समर्पित रहें और भावमय रहें.

सुनते हैं एक माता भजन जिसे बाबला मेहता ने गाया है और
जो टी सीरीज़ के भक्ति सागर एल्बम में उपलब्ध है.



भजन के बोल:

जयकारा शेरावाली का
हो ओ बोले साचे दरबार की जय

आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
दिल ने पुकारा तू है मेरा सहारा माँ
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
हो शेरावालिये हो मेहरा वालिये
शेरां वाली जोतां वाली मेहरां वाली माँ
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा

अरे प्रेम से बोलो, जय माता दी
सारे बोलो, जय माता दी
मिल के बोलो, जय माता दी
अरे फिर से बोलो, जय माता दी
जय माता दी जय माता दी जय माता दी
जय माता दी जय माता दी जय माता दी

मैंने मन से तेरी पूजा की है सांझ सवेरे
मुझ को दर्शन दे के मैया भाग जगा दे मेरे
मैया मैया बोले मेरा मन एक तारा माँ
मैंने मन से तेरी पूजा की है सांझ सवेरे
मुझ को दर्शन दे के मैया भाग जगा दे मेरे
मुझ को दर्शन दे के मैया भाग जगा दे मेरे
मैया मैया बोले मेरा
मैया मैया बोले मेरा मन एक तारा माँ

आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा

प्रेम से बोलो, जय माता दी
सारे बोलो, जय माता दी
जोर से बोलो जय माता दी

तूने ही पाला है मुझको तू ही मुझे संभाले
तूने ही मेरे जीवन मे पल पल किये उजाले
तूने ही पाला है मुझको तू ही मुझे संभाले
तूने ही मेरे जीवन मे पल पल किये उजाले
तूने ही मेरे जीवन मे पल पल किये उजाले
चरणों मे तेरे मैंने
चरणों मे तेरे मैंने तन मन वारा माँ

आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा

अरे प्रेम से बोलो, जय माता दी
सारे बोलो, जय माता दी
मिल के बोलो, जय माता दी
अरे फिर से बोलो, जय माता दी


मान ले मेरी विनती मैया एक झलक दिखला दे
रूप की शीतल किरणों से नैनों के द्वार सजा दे
मान ले मेरी विनती मैया एक झलक दिखला दे
रूप की शीतल किरणों से नैनों के द्वार सजा दे
रूप की शीतल किरणों से नैनों के द्वार सजा दे
नैनो को रूप तेरा लगता है प्यारा माँ

आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
दिल ने पुकारा तू है मेरा सहारा माँ
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा
आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा

जय माता दी जय माता दी
जय माता दी जय माता दी
कष्ट निवारे शेरों वाली
पार लगा दे शेरों वाली
है दुःख हरणी शेरों वाली
बिगड़ी बना दे शेरों वाली

प्रेम से बोलो जय माता दी
सारे बोलो जय माता दी
अरे मिल के बोलो जा माता दी
जोर से बोलो जय माता दी
........................................................................
Aa Maa aa tujhe dil ne pukara-Mata Bhajan

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP