October 26, 2016

आ ज़रा करीब आ-संतान १९९३

एक पोस्ट में हमने कल्पनाशीलता(creativity) की बात की थी
पहले. दीपक तिजोरी की छबि एक सहायक अभिनेता की बन
के रह गयी. असल में उनमें जो पोटेंशियल है उसे निर्देशक
बाहर नहीं निकल पाए. केवल  इस गीत से उनकी अभिनय
क्षमता का अगर आकलन करें तो १० में से ९ नंबर दिए जा
सकते हैं. एक मंजा हुआ निर्देशक कलाकार से बहुत कुछ
करवा सकता है. फिल्म के निर्देशक हैं दासारि नारायण राव.

आपको नायिका को पहचानने में थोड़ी देर लग सकती है. ये हैं
नीलम. गीत थोडा तेज गति वाला है और अगर आपको आपकी
शादीशुदा जिंदगी नीरस सी लगती है तो इस गीत की रिहर्सल कर
के उसे अमल में ला के उसे फिर से रोचक बना सकते हैं. नहीं
तो एक अच्छा केलोरी जलाने वाला साधन तो है ही.

एक अच्छा रोमांटिक गीत है जिसमें गायकी और वाद्य-यंत्र नियंत्रित
हैं अर्थात संयमित.

समीर के लिखे बोलों को धुन दी है आनंद मिलिंद ने. इसे गा
रहे हैं एस पी बालसुब्रमण्यम संग चित्रा.


   
   
गीत के बोल:


आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम
आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम
क्या हसीं है समां प्यार कर ले सनम
आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम
क्या हसीं है समां प्यार कर ले सनम
आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम
आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम

ज़ुल्फ़ है खुली खुली आ संवार दूं
बाजुओं में लेट के पल गुज़ार दूं
हाँ ज़ुल्फ़ है खुली खुली आ संवार दूं
बाजुओं में लेट के पल गुज़ार दूं
चैन तो ले गयीं तेरी अंगडाईयाँ
क्या पता कब मिले ऐसी तन्हाईयाँ
ना कोई है यहाँ सिर्फ कमरे में हम
आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम
आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम

दो जवान बदन मिले छा गया नशा
ये मजा मिलन में है था किसे पता
हो दो जवान बदन मिले छा गया नशा
ये मजा मिलन में है था किसे पता
क्या कहें दिलरुबा साँसों की गर्मियां
चूम लूं मैं तेरे होंठों की नर्मियां
कुछ हवा सर्द है धडकनें हैं गरम
आ ज़रा करीब आ तुझे है मेरी कसम
क्या हसीं है समां प्यार कर ले सनम
आ हा उं हूँ हूँ हूँ ला ला ला ला ला

…………………………………………………….
Aa zara kareeb aa-Santaan 1993

Artists: Deepak Tijori, Neelam

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP