October 23, 2016

इक दिल का लगाना बाक़ी था-अनोखा प्यार १९४८

एक उम्दा गीत सुनते हैं १९४८ की फिल्म अनोखा प्यार से.
नर्गिस पर इसे फिल्माया गया है.  मीना कपूर की आवाज़
है, जिया सरहदी के बोल है और अनिल बिश्वास का संगीत
है. ये गीत लता मंगेशकर की आवाज़ में भी उपलब्ध है.
इस फिल में कुछ ऐसे गीत झें जो मीना कपूर और लता
दोनों की आवाज़ में उपलब्ध हैं. उस समय तक लता एक
अनजाना और संघर्षरत चेहरा थीं. इस फिल्म के गीतों से
उन्हें काफी प्रसिद्धि मिली. 

अनोखा प्यार दिलीप कुमार, नलिनी जयवंत और नर्गिस
अभिनीत फिल्म है जिसके निर्देशक एम् आई धरमसे हैं.
फिल्म की कहानी एक प्रेम त्रिकोण पर आधारित है. आप
गौर करेंगे कि यश चोपड़ा के पहले भी ऐसे कई निर्माता
निर्देशक हुए हैं जिन्होंने प्रेम त्रिकोण पर फ़िल्में बनायीं हैं.




गीत के बोल:

इक दिल का लगाना बाक़ी था
सो दिल भी लगा के देख लिया
इक दिल का लगाना बाक़ी था
सो दिल भी लगा के देख लिया
तक़दीर का रोना कम न हुआ
आँसू भी बहा के देख लिया
तक़दीर का रोना कम न हुआ
आँसू भी बहा के देख लिया
इक दिल का लगाना

इक बार भुलाना चाहा था
सौ बार वो हमको याद आया
इक बार भुलाना चाहा था
सौ बार वो हमको याद आया
इक भूलने वाले को हमने
सौ बार भुला के देख लिया
इक भूलने वाले को हमने
सौ बार भुला के देख लिया

इक दिल का लगाना

अब तक तो समझ में आ न सका
इस दिल की तमन्नाएं क्या हैं
अब तक तो समझ में आ न सका
इस दिल की तमन्नाएं क्या हैं
सौ बार
सौ बार हँसा के देख लिया
सौ बार रुला के देख लिया
सौ बार हँसा के देख लिया
सौ बार रुला के देख लिया

इक दिल का लगाना बाक़ी था
सो दिल भी लगा के देख लिया
इक दिल का लगाना
....................................................................
Ek dil ka lagana-Anokha Pyar 1948

Artist: Nargis

1 comments:

चांदनी सूरी,  October 26, 2016 at 5:32 PM  

वाह जी अब लता वाला गीत भी सुनवा दीजिए

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP