October 25, 2016

जाने मेरी अंखियों ने-प्यार की जीत १९६२

एक फिल्म है प्यार की जीत जिसमें हुस्नलाल भगतराम का
संगीत है. ये सन १९४९ की फिल्म है. इसी नाम से एक और
फिल्म आई सन १९६२ में जिसमें सुधीर फडके का संगीत है.
इस फिल्म के निर्देशक वसंत पेंटर हैं.

गीत लिखा है कमर जलालाबादी ने और इस युगल गीत को
गाया है रफ़ी और आशा भोंसले ने. गीत का वीडियो उपलब्ध
नहीं है. पानी से नया चाँद निकल रहा है गीत में वही देखना
था, माजरा क्या है.

फिल्म में महिपाल, रत्नमाला, कल्पना, मोहन चोटी प्रमुख
कलाकार हैं.  




गीत के बोल:


जाने मेरी अंखियों ने देखा है क्या
देखा है क्या
पानी से निकला है चाँद नया
पानी से निकला है चाँद नया

मुखड़े पे नन्ही नन्ही बूँदों के धारे
चन्दा के साथ जैसे छोटे छोटे तारे
दिन में हैं तारे ये जादू है क्या
पानी से निकला है चाँद नया
पानी से निकला है चाँद नया

जाने तेरी अंखियों ने देखा है क्या
देखा है क्या
पानी से निकला है चाँद नया
पानी से निकला है चाँद नया


नैन किसी के रोते हैं अपना
दिन की लाली में कैसा ये सपना
अंग-अंग किसने रंग भरा
पानी से निकला है चाँद नया
पानी से निकला है चाँद नया

मैं हूँ पुजारी तू मेरी कला है
जहाँ तेरे पग वहाँ मन भी चला है
क्या है ये नाता ज़रा तू ही बता
पानी से निकला है चाँद नया
पानी से निकला है चाँद नया

जाने तेरी अंखियों ने देखा है क्या
देखा है क्या
पानी से निकला है चाँद नया
पानी से निकला है चाँद नया
...............................................................
Jaane meri ankhiyon ne-Pyar ki jeet 1962

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP