October 15, 2016

झुके जो तेरे नैना-कंगन १९७२

कुछ पोस्ट पहले हमने संजीव कुमार और माला सिन्हा की जोड़ी
वाली फिल्म का एक गीत सुना था. आज सुनते हैं एक और गीत
जो लोकप्रिय है. इसे महेंद्र कपूर ने गाया है.

सन १९७२ की फिल्म कंगन में कल्याणजी आनंदजी का संगीत
है. के बी तिलक फिल्म के निर्देशक हैं. फिल्म में अशोक कुमार
भी मौजूद हैं.

गीत अनजान का लिखा हुआ है और गीत में शायद माला सिन्हा
की आवाज़ भी है.




गीत के बोल:

झुके जो तेरे नैना
झुके जो तेरे नैना
झुके जो तेरे नैना
तो चूड़ी तेरी खनकी
ये पायल तेरी छनकी
ये तेरी मेरी ये तेरी मेरी प्रीत
गोरी है बालेपन की
ये तेरी मेरी प्रीत
गोरी है बालेपन की
झुके जो तेरे नैना

कली जो खिलेगी
कली जो खिलेगी तो खुशबू उड़ेगी
छुपें फूल फिर भी ना खुशबू छुपेगी
छुपा ले ये फूलों सा मुखडा कहीं तू
लगन तेरे मन की
तो छुप ना सकेगी
उदा जो तेरा आँचल
उदा जो तेरा आँचल
तो चूड़ी तेरी खनकी
ये पायल तेरी छनकी
ये तेरी मेरी ये तेरी मेरी प्रीत
गोरी है बालेपन की
ये तेरी मेरी प्रीत
गोरी है बालेपन की
झुके जो तेरे नैना

कभी छांव बन के
कभी छांव बन के कभी धूप बन के
दिखता है ये रूप सपने मिलन के
मगर जब मिलन की घडी पास आये
तो दिखलाये जलवे ये बेगानेपन के
ओ ओ ओ ओ आ हा हा हा हा हा
जो लट लहराई
जो लट लहराई
तो चूड़ी तेरी खनकी
ये पायल तेरी छनकी
ये तेरी मेरी ये तेरी मेरी प्रीत
गोरी है बालेपन की
ये तेरी मेरी प्रीत
गोरी है बालेपन की
झुके जो तेरे नैना.
.............................................................................
Jhuke jo tere naina-Kangan 1972

Artists: Mala Sinha, Sanjeev Kumar

2 comments:

Ashok joshi October 18, 2016 at 2:26 PM  

Is gane me mahila aur Mala Sinha Ka nahi balki Usha Khanna Ka hai jinhone Jonny Mera Naam ke geet pal Bharat ke liye me bhi gungunaaya tha

Anupam October 19, 2016 at 10:03 AM  

अशोक जी ज्ञानवर्धक जानकारी साझा करने के लिए धन्यवाद. माला सिन्हा खुद एक
अच्छी गाईका रही हैं मगर उन्हें फिल्मों में गीत गाने के अवसर नहीं मिले. मैंने इसी
बात से अनुमान लगाया था.

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP