October 18, 2016

मौसम है ठण्डा ठण्डा-झांझर १९५३

मोतीलाल ४० के दशक के एक प्रमुख अभिनेता रहे. कामिनी कौशल
भी उस युग की एक प्रभावशाली अभिनेत्री रही है. दोनों की जोड़ी
वाली फिल्म झांझर से एक हल्का फुल्का गीत सुनते हैं. वैसे भी
काफी दिनों से कोई ठंडा ठंडा कूल कूल गीत नहीं सुना है.

गीत में गिल्ली डंडा कहला जा रहा है. लता मंगेशकर संग कोरस इस
गीत को गा रहा है जिसे राजेंद्र कृष्ण ने लिखा है. सी रामचंद्र ने इस
गीत की धुन तैयार की है. 

गिल्ली डंडे के खले पर इससे सोफ्ट और मधुर गीत शायद आपको ना
मिले हिंदी फिल्मों में. इस गीत को श्रेणी बनाने के शौक़ीन ‘गिल्ली डंडा’
हिट कह सकते हैं.





Motilal, Kamini Kaushal


गीत के बोल:

मौसम है ठण्डा ठण्डा आ खेलें गिल्ली डण्डा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा
मौसम है ठण्डा ठण्डा आ खेलें गिल्ली डण्डा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा

मैय्या से  चोरी चोरी मैं आई दौड़ी दौड़ी
जो पता चल जायेगा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा

मिलजुल के खेलें सारे कोई जीत जाये कोई हारे
मार जो डण्डे की लागे सर सर सर गिल्ली भागे
सामने जो आयेगा वो चित हो जायेगा
सामने जो आयेगा वो चित हो जायेगा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा

मौसम है ठण्डा ठण्डा आ खेलें गिल्ली डण्डा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा
मौसम है ठण्डा ठण्डा आ खेलें गिल्ली डण्डा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा

ये खेल है बड़ा सुहाना
खेल है बड़ा सुहाना
बडा सुहाना बड़ा सुहाना
खेल है बड़ा सुहाना
सब खेलों का है नाना
बड़ा सुहाना बड़ा सुहाना
सब खेलों से ये अच्छा
आ आ आ आ आ
इससे खेले है बच्चा बच्चा
आ आ आ आ आ
इससे खेले है बच्चा बच्चा
बाज़ी जो लगायेगा मौज वो उड़ायेगा
बाज़ी जो लगायेगा मौज वो उड़ायेगा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा

मौसम है ठण्डा ठण्डा आ खेलें गिल्ली डण्डा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा
मौसम है ठण्डा ठण्डा आ खेलें गिल्ली डण्डा
तो बडा मज़ा आयेगा बडा ही मज़ा आयेगा
बडा ही मज़ा आयेगा
..................................................................

Mausam hai thanda thanda-Jhanjhar 1953

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP