November 14, 2016

अखियाँ नू चैन न आवे-बैंडिट क्वीन १९९५

अलग हट के चीज़ें बॉलीवुड में कई होती हैं और कई बतलाई जाती
हैं. इनमें फिल्मों का प्रकार और संगीत का प्रकार भी शामिल है.
कभी कभी ऐसा होता है दोनों चीज़ें ही अलग हट के होती हैं. ऐसी
एक फिल्म है सन १९९५ की शेखर कपूर निर्देशित फिल्म बैंडिट
क्वीन.

फिल्म में नुसरत फतह अली खा का संगीत है. आज इससे एक गीत
सुनते हैं जिसे गाया भी नुसरत ने ही है.  बोलों में कुछ त्रुटि हो तो
कृपया सुधार करने में मदद करें.




गीत के बोल:

हो अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा
हरदम तेरी याद सतावे  हुण फेरा पा जा
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा
हरदम तेरी याद सतावे  हुण फेरा पा जा
दर्दाँ दी मारी  रो रो के हारी
ताँगाँ तेरीयाँ ने मैनू मारेया  प्यारेया
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा
हरदम तेरी याद सतावे  हुण फेरा पा जा
दर्दाँ दी मारी  रो रो के हारी
ताँगाँ तेरीयाँ ने मैनू मारेया  प्यारेया
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा

हो सजना मेरे दर्द वढा
मेरी उजड़ी जोग वधा
अपना बन के घर नू आ
हुण तकदी नू सीने ला
सजना मेरे दर्द वढा
मेरी उजड़ी जोग वधा
अपना बन के घर नू आ
हुण तकदी नू सीने ला
छड़ के तू तुर गैओं दूर वे
केड़ी गल्ले होयाँ मजबूर वे
तकदी है राह तेरे
मुक जांदे सा मेरे
आजा मेरे दिल दे साहारेया
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा
हरदम तेरी याद सतावे  हुण फेरा पा जा
दर्दाँ दी मारी  रो रो के हारी
ताँगाँ तेरीयाँ ने मैनू मारेया  प्यारेया
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा

तेरी याद सतों दी है
राती नींद न ओंदी है
दूरी बहुत रवोंदी है
कल्ली जिंद कुर्लोंदी है
तेरी याद सतों दी है
राती नींद न ओंदी है
दूरी बहुत रवोंदी है
कल्ली जिंद कुर्लोंदी है
किसे दा वे हिज नैइयों करीदा
सजना वे रब कोलों डरीदा
कराँ तेनु याद वे
सुन फ़रियाद वे
झूटेया वे बेएतबारेया
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा
हरदम तेरी याद सतावे  हुण फेरा पा जा
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा

सुख तेरे तो वारे ने
रोंदे नैन विचारे ने
तेरे झूटे लारे ने
कर दे गलाँ सारे ने
सुख तेरे तो वारे ने
रोंदे नैन विचारे ने
तेरे झूठे लारे ने
कर दे गलाँ सारे ने
होवे न जे अखियाँ तों ओले वे
केड़ा बै के दुख सुख फोले वे
कदराँ न पायाँ तू
तोड़ न निभाइयाँ तू
तेरे पिछे सब कुछ हारेया हो ओ ओ
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा
हरदम तेरी याद सतावे  हुण फेरा पा जा
दर्दाँ दी मारी  रो रो के हारी
ताँगाँ तेरीयाँ ने मैनू मारेया  प्यारेया
अखियाँ नू चैन न आवे सजना घर आ जा
हरदम तेरी याद सतावे  हुण फेरा पा जा
..................................................................
Ankhiyan nu chain na aave-Bandit Queen 1995

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP