November 13, 2016

कोई ना समझा-मेरे दोस्त पिक्चर अभी बाकी है २०१२

चलो कुछ तो छोटा है. फिल्म का नाम काफी लंबा है मगर इसका
एक छोटा सा मधुर गीत आज आपको सुनवा रहे हैं.

परवेज़ कादर इसके गायक हैं जिन्होंने सुभाष प्रधान संग इसका
संगीत भी तैयार किया है. इतने छोटे से गीत की धुन भी दो लोग
मिल के तैयार करें तो कुछ अचम्भा सा लगता है. गीत लिखा
है ताबिश रोमानी ने.

फिल्म बॉलीवुड के फिल्म उद्योग की कार्यप्रणाली पर केंद्रित है.
इसमें कितनी हकीकत है कितना फ़साना ये तो आपको देख
कर ही मालूम चलेगा. कुल्फी फालूदा बनाते बनाते कैसे नूडल्स
बन जाए करते हैं ये कहानी का निचोड़ है. फिल्म के निर्देशक
हैं रजनीश ठाकुर.




गीत के बोल:

कोई ना समझा कोई ना जाना
हम क्या क्या सोच के आये थे
इस दुनिया को पाने दिल की
हम बात सुनाने आये थे
सच्चाई के रंग दिखाने
हम आये थे फिल्म बनाने
बॉलीवुड में धूम मचाने
हम आये थे फिल्म बनाने
फिल्म बनाने
हो ओ ओ ओ ओ हो ओ ओ वो ओ ओ हो
ला ला ला ला हे हे हे हे

चला था जोशी फिल्म बनाने
बॉलीवुड में धूम मचाने
चला था जोशी फिल्म बनाने
…………………………………………….
Koi Na Samjha Koi Na Jana-Mere dost picture abhi baki hai 2012

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP