November 15, 2016

मुस्तफा मुस्तफा-दुनिया दिलवालों की १९९६

दक्षिण की फिल्मों के नामों के हिंदी तर्जुमे कुछ ऐसे होते
हैं जैसे कोई कसरती जिम या जवान बना देने वाली दवाई
के विज्ञापन हों. एक नाम थोडा अलग हट के मिला फिल्म
का-दुनिया दिलवालों की. मूल नाम है काढल देशम

गीत के गायक और संगीतकार रहमान हैं जिन्होंने गीत के
तमिल और तेलुगु संस्करण भी गाये हैं.

नायक नायिका और गीतकार के नाम जैसे ही मालूम होंगे
आपको बतलायेंगे. गीत की हर पंक्ति का अर्थ समझने की
ज़रूरत नहीं है क्यूंकि भेजा खपाने के बाद भी वो समझ
आने वाला नहीं है.




गीत के बोल:

ऊह येह फ्रेंडशिप
ऊह येह फ्रेंडशिप
फ्रेंडशिप इस व्हाट वी आर लुकिंग फॉर
मुस्तफा मुस्तफा डोंट वरी मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
मुस्तफा मुस्तफा डोंट वरी मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
डे बाय डे बढ़ता है दिल दिल से मिल जाता है
जादू है ऐसा फ्रेंडशिप का
मुस्तफा मुस्तफा डोंट वरी मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
ऊह येह फ्रेंडशिप
ऊह येह फ्रेंडशिप
आँखों की राहों से दिल पे छ जाते हैं
अपने बन जाते हैं जो दिल हैं अनजाने
स्कूलों में यारी है
कॉलेज में यारी है
ये जिंदगी है यारी सुन ले दीवाने
मिलना मिलाना है मस्ती लुटाना है
यारी के आगे क्या ये जल्दी सुनना है
खुशियों के सागर में यारी की कश्ती है
ना है किनारा आगे बढते जाना है
हो हो.
मुस्तफा मुस्तफा डोंट वरी मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
डे बाय डे बढ़ता है दिल दिल से मिल जाता है
जादू है ऐसा फ्रेंडशिप का
जादू है ऐसा फ्रेंडशिप का
मुस्तफा मुस्तफा डोंट वरी मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
ये आसमान है क्या एक पंछी के आगे
सागर ये क्या है यारा मछली के आगे
तू बस हँसते ही जा हर पल मुस्काते जा
फिर गम की हस्ती क्या यारा तेरे आगे
जीवन तो गाडी है इसको तो चलना है
राहों में स्टेशन तो आते हैं जाते हैं
गम तेरा स्टेशन है इसको तो जाना है
चलता चल खुशियों का भी स्टेशन आना है
हो हो .
मुस्तफा मुस्तफा डोंट वरी मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
डे बाय डे बढ़ता है दिल दिल से मिल जाता है
जादू है ऐसा फ्रेंडशिप का

जादू है ऐसा फ्रेंडशिप का
मुस्तफा मुस्तफा डोंट वरी मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
हम हैं तुम्हारे मुस्तफा
डे बाय डे बढ़ता है दिल दिल से मिल जाता है
जादू है ऐसा फ्रेंडशिप का
जादू है ऐसा फ्रेंडशिप का
.................................................................
Mustafa Mustafa-Duniya dilwalon ki 1996

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP