November 4, 2016

रूठे ख़्वाबों को मना लेंगे-काय पो छे २०१३

चेतन भगत के उपन्यास ‘थ्री मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ’ पर
आधारित है फिल्म काय पो छे की कहानी. फिल्म में चेतन के
पुत्र ने भी काम किया है. अभिषेक कपूर निर्देशित इस फिल्म में
सुशांत सिंह राजपूत, राजकुमार यादव और अमित साध प्रमुख
कलाकार हैं. इन्होने तीन दोस्तों की भूमिकाएं निभाई हैं.

गीत सुनते हैं जिसे स्वानंद किरकिरे ने लिखा है और इसे गाया
है अमित त्रिवेदी ने जो इसके संगीतकार भी हैं.





गीत के बोल:

रूठे ख़्वाबों को मना लेंगे
कटी पतंगों को थामेंगे
हो हो है जज़्बा हो हो है जज़्बा
सुलझा लेंगे उलझे रिश्तों का मांझा

सोई तकदीरें जगा देंगे
कल को अम्बर भी झुका देंगे
हो हो है जज़्बा हो हो है जज़्बा
सुलझा लेंगे उलझे रिश्तों का मांझा
हाँ मांझा

बिछड़े यारों को भुला देंगे
सोयी उम्मीदों को जगा देंगे
हो हो है जज़्बा हो हो है जज़्बा
सुलझा लेंगे उलझे रिश्तों का मांझा

रूठे ख़्वाबों को मना लेंगे
कटी पतंगों को थामेंगे
हो हो है जज़्बा हो हो है जज़्बा
सुलझा लेंगे उलझे रिश्तों का मांझा
.....................................................
Roothe khwabon ko mana lenge-Kai Po Che 2013

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP