November 7, 2016

ज़िंदगी ये सफर में है-दिल कबड्डी २००८

कबड्डी का क्रेज इन दिनों ज़ोरों पर है और अब तो फ़िल्मी गीतों
में भी कबड्डी होने लगी है, किसी में बोलों की तो किसी में संगीत
की. जब फ़िल्मी सितारों ने कबड्डी प्रीमीयर लीग की टीमें खरीदीं
तब से कबड्डी का उद्धार होना शुरू हो गया.

खैर, कबड्डी देख के दिलो दिमाग में कभी कभी कबड्डी चालू हो
जाती है तब कभी इस फिल्म का नाम भी ध्यान आ जाता है. आज
इस फिल्म से एक गीत सुनते हैं विराग मिश्रा का लिखा हुआ. इसे
सचिन गुप्ता और ध्रुव ढल्ला की जोड़ी ने संगीत से संवारा है. गायक
हैं राहत फ़तह अली खान. सोहा अली खान और राहुल खन्ना पर
इसे फिल्माया गया है.
   
इस फिल्म की कहानी समझने के लिए आपको फिल्म देखना पड़ेगी.
अगर आपने अंग्रेजी फिल्म हसबैंड्स एंड वाइव्स देख रखी है तो आपको
स्टोरी का कुछ आइडिया मिल जायेगा. विलायती फिल्म के निर्देशक हैं
वुडी एलन. अगर आप हृषिकेश मुखर्जी अथवा बासु चटर्जी की फ़िल्में
देखने के शौक़ीन हैं तो वुडी की फ़िल्में देखना शुरू कर दीजिए.




गीत के बोल:

ज़िंदगी ये सफर में है
कट रहा है रास्ता
ज़िंदगी ये सफर में है
कट रहा है रास्ता
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा

ज़िंदगी ये सफर में है
कट रहा है रास्ता
ज़िंदगी ये सफर में है
कट रहा है रास्ता
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा

आंसुओं की धूप में
कोई चल रहा इधर
आंसुओं की धूप में
कोई चल रहा इधर
कहकहों की छांव में
कोई चल रहा उधर
कोई किसी से गुम हुआ
कोई किसी को मिल गया
कोई किसी से गुम हुआ
कोई किसी को मिल गया
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा

है मिलन की चाहतें
फासले हैं दरमियान
है मिलन की चाहतें
फासले हैं दरमियान
धडकनें तो एक हैं
फिर भी हैं ये दूरियां
कोई किसी को है चाहता
कोई किसी से है खफा
कोई किसी को है चाहता
कोई किसी से है खफा
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा

ज़िंदगी ये सफर में है
कट रहा है रास्ता
ज़िंदगी ये सफर में है
कट रहा है रास्ता
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा
हमसफ़र दो हैं मगर
मंजिलें हैं जुदा जुदा
………………………………………………………..
Zingai ye safar mein hai-Dil kabbai 2008

Artists: Rahul Bose, Soha Ali Khan, Konkana Sen Sharma, Rahul Khanna, Hamara Bajaj, Irfan Khan

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP