December 1, 2016

मिलने है मुझसे आई–आशिकी-२ २०१३

युवा पाठकों का ध्यान रखते हुए आज पेश है आशिकी २ से एक
और गीत जिसे आजकल की सनसनी अरिजीत सिंह ने गाया है.
गौर्तालाभई आशिकी २ ९० के दशक में अवतरित फिल्म आशिकी
का सीक्वेल है. ९० के दशक वाली फिल्म में राहुल रॉय और
अनु अग्रवाल की जोड़ी थी. फिल्म में नदीम श्रवण का संगीत
था जो खूब चला था.

गीत लिखा है इरशाद कामिल ने और धुन है जीत गांगुली की. यह
गीत आदित्य रॉय और श्रद्धा कपूर पर फिल्माया गया है. मिलने आई
हिट्स के अंतर्गत एक गीत ७० के दशक का खूब बजा था-मैं तुझसे
मिलने आई मंदिर जाने का बहाने. फिल्म में आशा पारेख और
सुनील दत्त की जोड़ी है.

प्रस्तुत गीत के आखिर में पानी गिरने लगता है और गाने वाला ए ओ
वगैरह की अव्वाजें निकलने लगता है ठण्ड से बचने के लिए.




गीत के बोल:

मिलने है मुझसे आई
फिर जाने क्यूँ तन्हाई
किस मोड़ पे है लाई आशिक़ी
ओ ओ ओ ओ ख़ुद से है या ख़ुदा से
इस पल मेरी लड़ाई
किस मोड़ पे है लाई आशिक़ी
ओ ओ ओ ओ ओ ओ ओ ओ ओ

आशिक़ी बाज़ी है ताश की
टूटते बनते विश्वास की
ओ मिलने है मुझसे आई
फिर जाने क्यूँ तन्हाई
किस मोड़ पे है लाई आशिक़ी

जाने क्यूँ मैं सोचता हूँ
खाली सा मैं इक रास्ता हूँ
तूने मुझे कहीं खो दिया है
या मैं कहीं ख़ुद लापता हूँ
आ ढूँढ ले तू फिर मुझे
कसमें भी दूँ तो क्या तुझे
आशिक़ी बाज़ी है ताश की
टूटते बनते विश्वास की

मिलने है मुझसे आई
फिर जाने क्यूँ तन्हाई
किस मोड़ पे है लाई आशिक़ी

टूटा हुआ साज़ हूँ मैं
खुद से ही नाराज़ हूँ मैं
सीने में जो कहीं पे दबी है
ऐसी कोई आवाज़ हूँ मैं
सुन ले मुझे तू बिन कहे
कब तक खामोशी दिल सहे
आशिक़ी बाज़ी है ताश की
टूटते बनते विश्वास की
.............................................................
Milne hai mujhse aayi-Aashiqui 2 2013

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP