April 19, 2017

डैडी जी मम्मी जी को सताना नहीं अच्छा-सगाई १९५१

हिंदी सिनेमा और उसके संगीत के आशीर्वाद स्वरुप हमें
मम्मी-डैडी हिट्स, चाचा-भतीजा हिट्स और इसी तरह की
कई श्रेणियों वाले गीत सुनने को मिले. हिंदी सिनेमा ने
माँ, मम्मी और अम्मी को ज्यादा याद किया है.

सी रामचंद्र के संगीत में आपको दोनों को याद करने वाले
गीत मिल जायेंगे. फिल्म पायल की झंकार में लोकप्रिय
गीत है-अब्बा कहें ना.

सुनते हैं फिल्म सगाई से लाता मंगेशकर का गाया गीत.
इसे राजेंद्र कृष्ण ने लिखा है. फिल्म सन १९४९ की है
अर्थात इसे रिलीज़ हुए पूरे ६८ साल हो चुके हैं. प्रयोगधर्मी
गीत है. घरेलू थीम वाला गीत क्लब में गाया जा रहा है.
धुन आकर्षक है इसकी.



गीत के बोल:

डैडी जी ओ डैडी जी
डैडी जी
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
सताना रुलाना जलाना नहीं अच्छा
हो डैडी जी
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा

दिन भर में तुम पी जाते हो सिगरेट के दो टीन
कभी रसोई में भी देखो बरतन हैं कुल तीन
कभी रसोई में भी देखो बरतन हैं कुल तीन
देखो जी
घर को आग लगाना नहीं अच्छा
घर को आग लगाना नहीं अच्छा
सताना रुलाना जलाना नहीं अच्छा

हो डैडी जी
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा

सुबह सवेरे आठ बजे तुम घर से दफ़तर जाते
सुबह सवेरे आठ बजे तुम घर से दफ़तर जाते
शाम को छुट्टी होती है घर आधी रात को आते
शाम को छुट्टी होती है घर आधी रात को आते
देखो जी
इतनी देर से आना नहीं अच्छा
इतनी देर से आना नहीं अच्छा
सताना रुलाना जलाना नहीं अच्छा

हो डैडी जी
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा

बीवी घर में चूल्हा फूंके नन्हा शोर मचाये
बीवी घर में चूल्हा फूंके नन्हा शोर मचाये
बाप हमारा बाप रे बाप क्लब में नाचे गाये
बाप हमारा बाप रे बाप क्लब में नाचे गाये
देखो जी
बीवी बच्चों को भुलाना नहीं अच्छा
बीवी बच्चों को भुलाना नहीं अच्छा
सताना रुलाना जलाना नहीं अच्छा

हो डैडी जी
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
हो डैडी जी
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
मेरी मम्मी को सताना नहीं अच्छा
......................................................................
Daddy ji meri mummy ko satana-Sagai 1951

Artists: Premnath, Rehana, Gope, Poornima, Unknown fat woman

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2016. Powered by Blogger

Back to TOP